बोरिंग जॉब को करते करते आ चुका था तंग तो ठोक ढाला कंपनी पर मुकदमा और जीत लिए 33 लाख रूपये

आपने इस दुनिया में कई ऐसे लोगो के बारे सुन होगा तो लोग मजबूरन अपनी नौकरी पर तो जाते हैं मगर उनका उनकी नौकरी में मन नहीं लगता हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे व्यक्ति के बारे में बतएंगे जिसने सिर्फ अपने मालिक पर इस बात का केस कर दिया क्योंकि उसके काम में उस व्यक्ति का मन नहीं लगता था।

इस व्यक्ति का नाम “फ्रेड्रिक डेसनार्ड” हैं और इस व्यक्ति ने एक काफी अजीब कदम अपनी कंपनी के लिए उठाया हैं। आपको बता दे कि यह व्यक्ति “इन्टरपरफोम्स” नाम की कंपनी में काम करता हैं और इस व्यक्ति ने अपने कंपनी के ऊपर ही केस ठोंक दिया हैं। उस व्यक्ति ने कहां की कंपनी ने उसे बहुत ही बोरिंग सा काम दिया हैं और अब वह व्यक्ति कंपनी से मुआवज़ा मांग रहा हैं। लेकिन आखिरकर इस व्यक्ति को 5 तक मुकदमा चलने के बाद उसे हाई कोर्ट की मदद से न्याय मिल ही गया हैं।

कंपनी व्यक्ति से मांगा उसका इस्तीफा -:

फेड्रिक साल 2014 से ही किसी कॉस्मेटिक कंपनी में उची पोस्ट में काम कर रहा था। फेड्रिक सालाना 67 लाख रूपये की सैलरी लेता था। जब उसे उसकी पोस्ट से घटा दिया जिससे उस व्यक्ति को यह बात पसंद नहीं आई। जिसके बाद कंपनी उससे इस्तीफ़ा भी मांग रही थी। जिसके बाद जब उसने दुअरबारा कंपनी को ज्वाइन करना चाहा तों कंपनी ने उस व्यक्ति को कंपनी में आने ही नहीं दिया। फेड्रिक ने वकील से बात कर कंपनी के खिलाफ केस भी कर दिया और वह अपने इस केस को 5 साल तक लड़ता रहा और अंत में वह ये जीत भी गया।

उसकी नौकरी पड़ी उसे ही पड़ी मेहेंगी -:

फेड्रिक ने कोर्ट को बताया कि उसे उसकी इस पकाऊ सी नौकरी ने उसे कहीं का भी रहने ही नहीं दिया। कंपनी से उसे बिना कुछ काम, किये ही उसे सैलरी मिल रही थी। कंपनी में उसे अदृश्य इंसान की तरह देखा जाता था। जिसके बाद फेड्रिक ने वकीलों से बात कर कंपनी में केस कर दिया। फेड्रिक ने कंपनी से इस बात के लिए मुआवज़ा भी माँगा हैं। फेड्रिक ने कंपनी से 3 करोड़ रूपये की मुआवज़ा मांग, लेकिन फिर भी कोर्ट उसे कंपनी से ने 33 लाख रूपये तक का मुआवज़ा दिलवा सका।

About Vipul Kumar

मैं एक हिंदी और अंग्रेजी लेखक और फ़्रंट एंड वेब डेवलपर हूं। वंदे मातरम

View all posts by Vipul Kumar →

Leave a Reply

Your email address will not be published.